श्री कल्याण राय जी का मन्दिर करौली

श्री कल्याण राय जी का मन्दिर करौली


श्री कल्याण राय जी का मन्दिर करौली शहर में रावल महल के सामने लाल नक्काशीदार पत्थरों से बना हुआ है |यह मंदिर भी भगवान श्री कृष्ण को समर्पित है। इसका निर्माण सन् 1348 के आसपास राजा अर्जुन देव जी ने करौली शहर की स्थापना से पहले किया तथा इस मंदिर को करौली की नींव का पत्थर भी कहा जाए तो गलत नही होगा , इसी कारण करौली शहर का नाम पूर्व मै कल्याणपुरी रखा गया था। | श्री मदन मोहन जी से पहले करौली दरवार के कुलदेवता का सम्मान भी इसी मन्दिर को प्राप्त था ।करौली शहरकी जनता आज भी शुभकार्य मै इस मंदिर पर ध्वजा चढाने आते हैं जिसमे (आटा,चावल,दाल,घी,गुड,चीनी और रुपया नारियाल )आता है| एवम मातम कार्य मै भी पत्तल आती है जिसमे आटा,दाल,घी, बूरा,मिठाइयाँ व न्योछावर के रूपये आते हैं इसी मन्दिर मै भगवान विष्णु के द्वार शापित , ग्यारिस माता की मूर्तियाँ भगवान ब्रह्मा,विष्णु एवम महेश के चरणों मै उलटी लटकी हुई हैं। प्रत्येक ग्यारिस को ग्यारिस का ब्रत रखने वाले चावल चढाने आते हैं ।

kalyan_ray_ji1
kalyan_ray_ji2


दर्शनलाभ समय: गर्मियों में सुबह 4.30 बजे से 11.30 बजे तक, शाम 6.00 बजे से रात 8.30 बजे तक एवम सर्दियों में सुबह 5.30 बजे से 12.00 बजे तक, शाम 6.00 बजे से रात 8.30 बजे तकआइये मंदिर की कुछ झलकिया देखते है..

kalyan_ray_ji3
kalyan_ray_ji4
kalyan_ray_ji5
kalyan_ray_ji6
kalyan_ray_ji7
kalyan_ray_ji8
kalyan_ray_ji9
kalyan_ray_ji9
views: 1300


QUICK ENQUIRY

ABOUT

Karaulians का मुख्य उद्देश्य राजस्थान के इतिहास एवं ऐसा इतिहास जो किन्ही परिस्थितियों के कारण इतिहास के पन्नो में संकुचित सा होकर रह गया है, को डिजिटल माध्यम से जन जन तक पहुंचाने का है | राजस्थान, जो की शुरू से ही पर्यटन स्थलो से परिपूर्ण रहा है परन्तु वहाँ के कुछ छुपे हुए पर्यटन स्थल जो आकर्षक और अदभुत होने के बाद भी सैलानियों की नजरों से अभी भी दूर है, उन्हें भारत के पर्यटन स्थलों की सूची की पृष्ठभूमि पर लाने को "करौलियंस टीम" प्रयासरत है| Karaulians आपको एक ऐसा प्लेटफॉर्म देने के लिए अग्रसर है जहां आप चाहे तो खुद भी अपने ज्ञान को लोगो तक पहुंचा सकते हैं । Karaulians पर आप अपना अकाउंट बना कर खुद अपना ब्लॉग लिख और प्रसारित कर सकते है । धन्यवाद " Founders- दे व रा ज पा ल & आ शी ष पा ल

FOLLOW US

Karaulians